Breaking News

Yoga Asanas For Hair Growth: इन योगासनों की मदद से बेहतर हो सकती है बालों की ग्रोथ

आजकल टूटते-झड़ते बालों की समस्या से हर तीसरा व्यक्ति परेशान है। अगर आप भी उन लोगों में से एक हैं जिन्होंने बाल बढ़ाने और बालों की समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए सभी तरीके अपनाकर देख लिए हैं। तरह-तरह के महंगे उत्पाद और नुस्खे अपनाने के बावजूद भी बालों की स्थिति में कोई सुधार नहीं हो रहा है, तो कुछ योगासनों की मदद से बालों की ग्रोथ को बेहतर बनाया जा सकता है। अब आइए जानते हैं वे कौन से योगासन हैं, जिनके नियमित अभ्यास से बालों की ग्रोथ बढ़ाने में मदद मिलती है...

1. अधोमुख श्वान आसन
सबसे पहले योग मैट पर अपने पैरों के बीच थोड़ी सी दूरी बनाकर खड़े हो जाएं। अब अपने हाथों को भी जमीन पर ले आएं। आपकी हथेलियां जमीन पर टिकी होनी चाहिएं। इस स्थिति में आपकी पीठ एक मेज़ के ऊपरी हिस्से तथा हाथ-पैर मेज़ के चार पैरों की तरह लगने चाहिए। इसके बाद सांस बाहर छोड़ते हुए कमर को ऊपर की तरफ उठाएं। अपनी कोहनी तथा घुटने एकदम सीधे रखें। आपका शरीर एक उल्टे V अल्फाबेट की तरह लगना चाहिए।

सुनिश्चित करें कि हाथ और कंधों की दूरी के बराबर ही आपके पैर कमर से दूर होने चाहिए। आपकी बाहें कानों से स्पर्श करें। आपकी नजरें नाभि पर होनी चाहिए। एक लंबी गहरी सांस लेकर कुछ समय तक अधोमुख श्वान की तरह रहें। इसके पश्चात सांस छोड़ते हुए घुटनों को मोड़ें तथा वापस मेज़ वाली पोजीशन में लौट आएं। थोड़ी देर मेज वाली पोजीशन में विश्राम करके आराम से सीधे खड़े हो जाएं।

2. वज्रासन
बालों की ग्रोथ में सहायक वज्रासन करने के लिए सर्वप्रथम योग मैट पर घुटनों के बल बैठ जाएं। सुनिश्चित करें कि इस स्थिति में आपके दोनों पैरों के अंगूठे एक साथ मिले हुए हों, एड़ियां अलग हों तथा आपके नितंब एड़ियों पर टिके हुए हों। इसके बाद अपनी दोनों हथेलियों को दोनों घुटनों पर रखें। ध्यान रखें कि आपकी पीठ और सिर एकदम सीधे होने चाहिए। साथ ही दोनों घुटने भी आपस में सटे हुए होने चाहिए। इसके पश्चात आंखें बंद करके सांसो की गति सामान्य बनाए रखें। 5-10 मिनट तक इसी तरह बैठने के बाद धीरे-धीरे आंखें खोलें और सामान्य अवस्था में लौट आएं।

3. सर्वांगासन
सर्वांगासन करने के लिए सर्वप्रथम योग मैट पर पीठ के बल लेट जाएं। अपने दोनों हाथों को शरीर के बगल में दोनों तरफ जमीन पर रखें। इसके बाद दोनों पैरों को एक साथ ऊपर की तरफ सीधा उठाएं। पैरों के बाद धीरे-धीरे अपने कूल्हों और कमर को भी जमीन से ऊपर की तरफ उठाएं। अपनी कमर को दोनों हाथों से सहारा दें। हाथों की कोहानियां जमीन पर टिकी हुई होनी चाहिए। आपके शरीर का पूरा भार कंधों के ऊपर महसूस होना चाहिए। गहरी सांसे लेते हुए 30 सेकंड से 1 मिनट तक इसी पोजीशन में बने रहें। इसके बाद आराम से पैरों को और फिर कमर को जमीन की तरफ लेकर आएं। सीधे लेट कर थोड़ी देर विश्राम करें।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/3rIukC1

No comments