Breaking News

Asanas To Tighten Skin: स्किन को टाइट और खूबसूरत बनाता है इन आसनों का अभ्यास

नई दिल्ली। Asanas To Tighten Skin: यह बात सच है कि एक ना एक दिन बुढ़ापा तो सब का आना ही है। परंतु असंतुलित जीवनशैली, तनाव, खराब खानपान, धूम्रपान, शराब आदि बुरी आदतों के कारण कुछ लोगों को समय से पहले ही चेहरे पर झुर्रियां, बारीक रेखाएं, ढीली पड़ी त्वचा आदि का सामना करना पड़ता है। कभी-कभी हार्मोनल बदलाव भी त्वचा समस्याओं का कारण हो सकते हैं। लेकिन कुछ योगासन ऐसे हैं, जो आपकी त्वचा को प्राकृतिक रूप से सुंदर, चिकनी और टाइट बनाने के साथ अन्य स्वास्थ्य लाभ भी दे सकते हैं। तो आइए जानते हैं इन आसनों के बारे में...

  • सर्वांगासन
    यह आसन त्वचा में कसाव लाने के साथ ही मुंहासे और पिंपल्स से छुटकारा दिलाता है। इस आसन को करने के लिए सबसे पहले योगा मैट बिछाकर उस पर पीठ के बल लेट जाएं। दोनों हाथों की हथेलियों को जमीन पर सीधा रखें। अब अपने दोनों पैरों को कमर से मोड़ते हुए एक साथ पूरा आसमान की ओर उठाएं। पैरों को अधिकतम ऊंचाई तक ले जाने के लिए अपने दोनों हाथों से पीठ को सहारा दें। ध्यान रहे कि इस पोजीशन में आपकी रीढ़ की हड्डी और पैर एक सीधी रेखा में होनी चाहिएं और शरीर का पूरा भार कंधों पर रहे। लगभग 30 सेकंड तक इसी पोजीशन में रुकें और फिर पैरों को धीरे-धीरे नीचे लाते हुए प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं।
sarvangasana.jpg

यह भी पढ़ें: फूलों सी खिली-खिली त्वचा के लिए इस तरह करें फूलों का ही इस्तेमाल , इन आटों को शामिल करें अपने आहार में, तो जल्दी घटेगा वजन

  • भुजंगासन
    ढीली त्वचा में कसाव लाने के लिए यह एक बेहतरीन आसान है। इसके अलावा भी इस आसन के बहुत से स्वास्थ्य लाभ देकर गए हैं। आपको बता दें कि भुजंगासन रीढ़ की हड्डी को मजबूती देने के साथ ही किडनी स्टोन के दर्द से भी छुटकारा दिला सकता है। इस आसन को करने के लिए योगा मैट पर सबसे पहले पेट के बल लेट जाएं। दोनों पैरों को और दोनों हाथों की हथेलियों को जमीन पर रखें। इसके बाद अपने दोनों हाथों पर शरीर का भार डालते हुए धीरे-धीरे अपने सिर को ऊपर की ओर उठाकर पीछे की ओर ले जाएं। साथ ही ठुड्डी को भी ऊपर की ओर करने का प्रयास करें। इस पोजीशन में 20-30 सेकंड तक रुकने के बाद धीरे-धीरे प्रारंभिक अवस्था में आ जाएं।
bhujangasana.jpg
  • त्रिकोणासन
    लटकी त्वचा को टाइट करने के अलावा त्रिकोणासन चेहरे और सिर तक रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में सहायक है। इस आसन के अभ्यास से शरीर में होने वाली ऑक्सीजन की आपूर्ति की वृद्धि से त्वचा की गुणवत्ता बेहतर होती है। त्रिकोणासन करने के लिए आप एक स्थान पर दोनों पैरों के मध्य कंधों की चौड़ाई से अधिक दूरी रखते हुए सीधे खड़े हो जाएं। अब अपने दाएं पैर की तरफ झुकें और अपने दाएं हाथ को जमीन पर रखने का प्रयास करें। साथ ही बाएं हाथ को आसमान की ओर करके सीधा करें, ताकि दोनों हाथ एक सीधी रेखा में हो जाएं। जिन लोगों को जमीन पर हाथ रखने में कठिनाई होती है, वे लोग अपना हाथ पैर के ऊपर रख सकते हैं।
trikonadana.jpg

from Patrika : India's Leading Hindi News Portal https://ift.tt/30gBmoc

No comments