Breaking News

असुरक्षित सेक्स से भी हो सकता है कोरोनावायरस का संक्रमण, मरीजों के शुक्राणुओं में मिला वायरस; चीनी शोधकर्ताओं का दावा

कोरोना पीड़ितों के शुक्राणुओं तक वायरस पहुंच गया है। चीन में हुई स्टडी में इसकी पुष्टि हुई है। चीनी शोधकर्ताओं के मुताबिक, 38 कोरोना संक्रमितों पर रिसर्च की गई। जांच रिपोर्ट में 16 फीसदी मरीजों के सीमेन में कोरोनावायरस मिला है। रिसर्च में कहा गया है कि सेक्स के दौरान भी कोरोना का संक्रमण फैल सकता है। एक अन्य शोध में दावा किया गया था कि कोरोनावायरस इंसान के मल में कई दिनों तक जीवित रह सकता है।

नतीजे नजरअंदाज नहीं किए जा सकते
चीन के शेंगक्यू म्यूनिसिपल हॉस्पिटल में हुई रिसर्च के मुताबिक, शोध काफी कम लोगों पर हुआ है लेकिन इसके नतीजों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। यह शोध अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित हुआ है, जिसमें शोधकर्ताओं का कहना है कि कोरोना से संक्रमण और बचाव में सेक्सुअल ट्रांसमिशन भी अहम रोल निभा सकता है।

वायरस कब तक जिंदा रहता है, शोध होगा
शोधकर्ताओं के मुताबिक, वर्तमान में कोरोना से बचाव के हर तरीके अपनाए जा रहे हैं ऐसे में इस रिसर्च के नतीजे नई जानकारी देकर कोरोना से सुरक्षित रखने में मदद करेंगे। अब शोधकर्ताओं का लक्ष्य यह पता लगाना है कि वायरस सीमेन में कैसे ठहरता है और कब तक जिंदा रहता है।

मल में भीकोरोनवायरस के तीन मामलों में पुष्टि हुई
कोरोना वायरस इंसान मल में कई हफ्तों तक ज़िंदा रह सकता है। संक्रमित व्यक्ति अगर ठीक भी हो जाए तो कुछ हफ्तों तकउसके मल में ये वायरस मौजूद रह सकता है और अगर कोई मक्खी इस पर बैठ जाए तो वो वह वाहक का काम कर सकती है। लैंसेट जर्नल मेंप्रकाशित रिसर्च में यह बात कही गई है। यह रिसर्च चीनी वैज्ञानिकों ने की है।

लैंसेट की रिपोर्ट में कोरोना के तीनों प्रकारों का हवाला देते हुए समझाया गया है कि कैसे यह इंसान के मल में पाया गया है। यह कितनेतापमान तक जिंदा रहता है, इसका भी जिक्र किया गया है।

पहला मामला: सार्स
रिपोर्ट के मुताबिक, 2002-03 में जब सार्स (कोरोना का एक प्रकार) का संक्रमण हुआ था तो मरीजों के मल में संक्रमण से पांच दिन के बाद सेभी यह वायरस पाया गया। बीमारी के 11वें दिन तक मल में वायरस का आरएनए और बढ़ गया। बीजिंग के दो अस्पतालों में सीवेज वाटर कीजांच में इसकी पुष्टि हुई। रिसर्च में सामने आया कि यह 4 डिग्री सेंटीग्रेट तापमान पर 14 दिन तक संक्रमण करने की स्थिति में रहता है। वहीं20 डिग्री तापमान पर दो दिन तक जिंदा रहता है। अगर तापमान 38 डिग्री है तो इसे खत्म होने में 24 घंटे लगते हैं।

दूसरा मामला: मर्स
2012 में मेर्स (कोरोनावायरस का एक प्रकार) के संक्रमण के दौरान मरीजों के 14.6 फीसदी सैम्पल में यह वायरस मिला। यह वायरस भी कमतापमान और नमीमें जिंदा रह सकता है और मल के जरिए फैल सकता है। रिसर्च के मुताबिक, मेर्स इंसान के शरीर में पहुंचकर अपनी संख्याभी बढ़ा सकता है।

तीसरा मामला: नया कोरोनावायरस
नीदरलैंड के सीवेज में भी नया कोरोनावायरस (SARS-CoV-2) मिला है। अमेरिका में कोरोना के पीड़ित पहले मरीज के मल में भी यह पाया गया है। नए कोरोनावायरस पर चीन में हुई एक और रिसर्च कहती है जब यह वायरस पाचन तंत्र की अंदरूनी लेयर को संक्रमित करता है ऐसे 50 फीसदी से अधिक मरीजों के मल से संक्रमण फैल सकता है। जांच में निगेटिव होने के बाद भी 20 फीसदी मरीजों के मल से यह फैल सकता है।

रिपोर्ट निगेटिव लेकिन मल की जांच पॉजिटव, चीन में ऐसे कई मामले
एक और रिसर्च 205 मरीजों पर की गई। रिपोर्ट के मुताबिक, 30 फीसदी मरीजों के मल में जिंदा कोरोनावायरस मिला। चीन में ऐसे मामले भी सामने आए हैं जब मरीज की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई लेकिन मल में यह वायरस पाया गया। रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक, जांच निगेटिव आने के 5 हफ्ते बाद तक यह मल में पाया जा सकता है।

कैसे बचाजाए

  • शौच के लिए खुले में न जाएं।
  • शौच करने या हॉस्पिटल से आने के बाद हाथ जरूर धोएं।
  • दिन में कई बार 20 सेकंड तक हाथों को धोएं।
  • रोजाना शौचालय की सफाई करें।
  • अधपका खाना न खाएं और खाना परोसते समय बर्तन में नमी या पानी नहीं होना चाहिए।

दरवाजा बंद तो बीमारी बंद: अमिताभ बच्चन
अमिताभ बच्चन ने 2 मिनट 43 सेकंड के वीडियो में कोरोना से बचाव की बात कही। उन्होंने कहा, देश कोरोना वायरस से जूझ रहा है।कोरोनावायरस का मरीज ठीक भी हो जाए तो भी उसके मल में कई दिनों तक यह वायरस जिंदा रहता है। इसलिए कुछ बातों का ध्यान रखनेकी जरूरत है-

  • अपने शौचालय का नियमित रूप से इस्तेमाल करें, खुले में शौच के लिए न जाएं।
  • लोगोंसे दूरी बनाए रखें, आपातकालीन स्थिति में ही बाहर निकलें।
  • दिन में कई बार हाथों को साबुन से 20 सेकंड तक धोएं।
  • अपने नाक और मुंह को न छुएं।
  • याद रखें, दरवाजा बंद तो बीमारी बंद, शौचालय का इस्तेमाल कीजिए, हर रोज, हमेशा।


Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Coronavirus found in semen of infected men, study shows


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2SXxUrD

No comments