Breaking News

बार-बार मास्क हटाने की आदत से फैल सकता है संक्रमण, उलझन से घबराएं नहीं और इसे लगाने की आदत डालें क्योंकि यही बचाव है: एक्सपर्ट

कोरोना काल में ठंडा पानी पीनाकितना सही है, क्या अकेले रहरहे लोगों को संक्रमण का ज्यादा खतरा है और पैसे के लेन-देन से कोरोना फैल सकता है...ऐसे कई सवालों के जवाबडॉ. लेफ्टिनेंट जनरल वेद चतुर्वेदी, गंगाराम हॉस्पिटल, नई दिल्ली ने आकाशवाणी को दिए। जानिए कोरोना से जुड़े सवाल और एक्सपर्ट के जवाब....

#1) थोड़ी-थोड़ी देर में मास्क हटाना कितना खतरनाक है?

अगर किसी को मास्क लगाने को कहा गया है तो उसकी खुद की सुरक्षा के लिए ही कहा जा रहा है ताकि वायरस के संक्रमण से बचाया जा सके। बार-बार उसे बिल्कुल न उतारें। इससे वायरस मुंह या नाक के जरिए शरीर के अंदर पहुंच सकता है। कई बार उलझन होती है लेकिन घबराएं नहीं। धीरे-धीरे इसकी आदत डालनी होगी। यही बचाव है।

#2) कोरोना काल में क्या ठंडा पानी पी सकते हैं?

वायरस का तापमान से कोई लेना-देना नहीं है। गरम पानी इसलिए पीने को कहा जाता है क्योंकि इससे गला खराब नहीं होता है। अगर खराश है तो वो ठीक हो जाती है। ठंडा पानी पीने से कई लोगों का गला खराब होने लगता है लेकिन अगर कोई ठंडा पानी पीना चाहता है तो पी सकता है।

#3)अगर कोई अकेले रहता है तो क्या उसे भी संक्रमण हो सकता है?
कई बार अकेले रहने वाले लोग भयभीत रहते हैं कि कहीं उन्हें वायरस का संक्रमण न हो जाए। लेकिन डरने की जरूरत नहीं है। वायरस केवल संक्रमित के सम्पर्क में या भीड़-भाड़ में जाने से होता है। जो लोग अकेले हैँ और किसी के सम्पर्क में नहीं है तो यह भी मानकर न चलें कि वे संक्रमित नहीं हो सकते। कहीं भी रहें मास्क लगाकर रहें। खेत में हैं तो भी नियमों का पालन करें, इससे मास्क लगाने की आदत बनी रहेगी।

#4) क्या पैसे के लेन-देन से वायरस का संक्रमण हो सकता है?

नोट हो या कोई अन्य चीज, लेन-देन के बाद तुरंत हाथ जरूर धोएं या सैनेटाइज करें। ऐसी नोट या सामान धूप में कम से कम 10 घंटे के लिए रख दें जहां से कोई आता-जाता न हो। किसी भी चीज पर वायरस हमेशा नहीं रहता। एक निश्चित समय सीमा के बाद वह नष्ट हो जाता है। लोग चाहें तो सैनेटाइज कर लें। सामान लेने से पहले हाथों पर सैनेटाइजर लगा लें और लेने के बाद वापस घर आकर हाथ साबुन से धोएं।

#5) 88 साल के एस जायसवाल कोविड-19 से ठीक हो गए, उन्हें कैसे देखते हैं?
हर युद्ध में जज्बा चाहिए होता है फिर चाहें कोरोना से ही क्यों न लड़ना हो। अगर किसी के अंदर आत्मविश्वास है तो इस बीमारी से ठीक हो जाएगा। लोगों को उनकी इच्छाशक्ति ही बीमारी से ठीक करती है। बीमारी का इलाज चल रहा है, डॉक्टर अपना काम कर रहे हैं। बस लोगों को मानसिक रूप से मजबूत होना जरूरी है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Coronavirus Disease (COVID-19) Symptoms; Questions Answered By New Delhi Doctor Lt Gen Ved Chaturvedi


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3fZ7jV2

No comments