Breaking News

वायरस के संक्रमण से नष्ट होते फेफड़ों को बचा लेगी अमेरिका में बनी नई दवा EIDD-280, इसकी टेबलेट का ट्रायल शुरू

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने कोरोना से लड़ने के लिए नई दवा EIDD-2801 तैयार की है। रिसर्च के दौरान इसका प्रयोग कोरोनावायरस से संक्रमित चूहों और इंसानीफेफड़ों पर सफल रहा है। यह एक एंटीवायरल ड्रग है जो डैमेज होते फेफड़ों को कंट्रोल करती है। अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने इस दवा को इंसानों परट्रायल करने की अनुमित दे दी है। ड्रग तैयार करने वाली इमोरी यूनिवर्सिटी का कहना है इस टेबलेट के रूप में लिया जा सकेगा।

दवा से जुड़ी 07 बड़ी बातें
#1)वैज्ञानिकों ने नाम दिया 'रिलीफ ड्रग' : शोधकर्ताओं ने नई दवा को 'रिलीफ ड्रग' का नाम दिया है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, दवा का इस्तेमाल नए कोरोनावायरस सेसंक्रमित चूहे और इंसानी फेफड़ों की कोशिकाओं पर किया गया है। इसका इस्तेमाल कोरोना संक्रमित मरीजों की अलग-अलग स्थिति में किया जा सकेगा।

#2) कैसे काम करती है दवा : इमोरी यूनिवर्सिटी के डिपार्टमेंट ऑफ माइक्रोबायलॉजी एंड इम्यूनोलॉजी के प्रोफेसर रॉल्फ बेरिक का कहना है यह दवा संक्रमण शुरु होने 12से 24 घंटे के अंदर डैमेज होते फेफड़ों को कंट्रोल करने लगती है। इस दौरान घटते वजन को भी नियंत्रित करने का काम करती है। चूहे में हुए प्रयोग में इसकीपुष्टि भी हुई है।

#3) इसलिए सबसे खास है यह दवा : साइंस ट्रांजेशनल मेडिसिन जर्नल के मुताबिक, दिसम्बर 2019 में दवा की पहली रिपोर्ट में सामने आया कि यह कोरोनावायरस कीसंख्या को बढ़ने से रोकती है। एक दूसरे प्रयोग में साबित हुआ कि इस दवा के कारण वायरस की गतिविधियों पर रोक लग जाती है। इस मामले में EIDD-2801दूसरे ड्रग जैसे रेमडेसिवीर से भी बेहतर है।

#4) EIDD-2801 रेमडेसिवीर से बेहतर : शोधकर्ताओं का कहना है कि अभी कोरोना के मरीजों को एंटी-वायरल दवा रेमडेसिवीर दी जा रही है। EIDD-2801 और रेमडेसिवीर दोनों ही दवाओं में काफी समानताएं है लेकिन कई मायनों EIDD-2801 बेहतर है। वायरस शरीर में अपना जेनेटिक मैटेरियल बढ़ाने के लिए जिस एंजाइम का प्रयोग करता है, यह दवा उसी को ब्लॉक करती है।

#5) कोरोना फैमिली के हर वायरस से बचाव होगा : शोधकर्ताओं का दावा है कि यह दवा कोरोनावायरस के पूरे समूह के लिए कारगर साबित होगी। इमोरी यूनिवर्सिटी कीओर से जारी एक बयान के मुताबिक, वर्तमान में कोरोना मरीज को दवाएं नसों की मदद से दी जा रही हैं लेकिन नए ड्रग को टेबलेट के रूप में लिया जा सकेगा।

#6) पूरी तरह से एंटी-कोरोनावायरस ड्रग : शोधकर्ताओं का दावा है कि EIDD-2801 पूरी तरह एंटी-कोरोनावायरस ड्रग है, जो खासतौर पर कोरोना को रोकने के लिए कामकरेगी। फिलहाल वर्तमान में सपोर्टिव ट्रीटमेंट के तौर पर हाडड्रोक्सी क्लोरोक्वीन, प्लाज्मा थैरेपी दी जा रही है।

#7) दूसरे कोरोना वायरस के लिए तैयार हुई थी दवा : अमेरिकी वेबसाइट एबीसी न्यूज के मुताबिक, EIDD-2801 को दरअसल इंफ्लूएंजा और कोरोनावायरस के दूसरे दोप्रकारों के लिए तैयार किया गया था। लेकिन अब इसे नए कोरोनावायरस के संक्रमण कोविड-19 के इलाज के लिए प्रयोग किया जा रहा है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
America starts trial of new drug EIDD-280, its tablet to protect lungs destroyed by infection


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/34AhOst

No comments