Breaking News

कोरोना से लड़ने की जो दवाएं मौजूद उनमें मलेरिया ड्रग हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन सबसे प्रभावी, 31 देशों के 37% विशेषज्ञों ने जताई सहमति

कोरोनावायरस का इलाज करने के लिए अबतक जो भी दवाएं उपलबध हैं उनमें से मलेरिया की दवा हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन सबसेबेहतर है। दुनिया के 30 देशों के 37 फीसदी डॉक्टरों ने इस पर अपनी मुहर लगाई है। 6200 डॉक्टरों पर हुए सर्वे में 37 फीसदी विशेषज्ञों नेहाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन को कोरोनावायरस के लिए सबसे प्रभावी दवा बताया है। हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है अब ऐसी कोई दवानहीं बनी है जो कोरोना से संक्रमण का इलाज कर सके।

यूरोप, अमेरिका और चीन में यह दवा देने की अनुमति
यूरोप, अमेरिका और चीन के डॉक्टर कोरोना के मरीजों को यह दवा दे सकते हैं, इसकी अनुमति उन्हें पहले ही दी जा चुकी है। लेकिन ब्रिटेन मेंइस दवा का क्लीनिकल ट्रायल चल रहा है, प्रयोग में सफलता मिलने तक डॉक्टर्स ये दवा प्रिस्क्राइब नहीं कर सकते। अमेरिका की नेशनल हेल्थ
सर्विस 1940 से इस दवा का इस्तेमाल रुमेटॉयड आर्थराइटिस और ल्यूपस के मरीजों पर कर रहा है।

सबसे ज्यादा स्पेन के डॉक्टरों ने यह दवा प्रिस्क्राइब की
हालिया सर्वे सेर्मो ने किया है, जो दुनियाभर के डॉक्टर का प्राइवेट सोशल नेटवर्क है। सर्वे के मुताबिक, स्पेन के 72 फीसदी डॉक्टरों ने कहा,उन्होंने यह दवा कोरोना के मरीजों को दी है। इटली के 53 फीसदी डॉक्टरों ने कहा, उन्होंने यह दवा वायरस को खत्म करने के लिए इस्तेमाल की, वहीं चीन में यह आंकड़ा 44 फीसदी और ब्रिटेन में 13 फीसदी है। ब्रिटेन में प्राइवेट प्रैक्टिशनर्स ने यह दवा मरीजों को लिखी थी।

कैसे काम करती है यह दवा
यह दवा सिन्कोना नाम के पेड़ से तैयार की जाती है। जिसका इस्तेमाल आमतौर पर मलेरिया के इलाज में होता है। यह दवा शरीर के इम्यूनसिस्टम को मजबूत बनाकर बीमारी से लड़ने में मदद करती है। इसीलिए इसका इस्तेमाल कोरोना के मरीजों पर किया जा रहा है। चीन में इसदवा पर हुए ट्रायल में सामने आया था कि यह कोरोना संक्रमण को गंभीर होने से रोक सकती है। डॉक्टर इसे ऐसे मरीजों को भी देने के बारे मेंसोच रहे हैं जो कोरोना की जांच में पॉजिटिव मिले लेकिन उनमें लक्षण नहीं दिखाई दिए।

चीन कीहालिया शोध में भी इस पर लगी मुहर
चीन के वुहान में हाल ही में हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन पर एक शोध हुआ है। वुहान यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने औसतन 45 साल की उम्र वाले 2कोरोना पीड़ितों को यह दवा दी। शोधकर्ताओं के मुताबिक, मरीजों की हालत में तेजी से सुधार हुआ। ये सभी ऐसे मरीज थे जिनमें कोरोना केशुरुआती लक्षण दिखाई दिए थे। हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प से हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा को गेम चेंजर कहा था। उनके मुताबिक यहऐसी संभावित दवा है जिससे कोरोनावायरस को रोकने में इस्तेमाल किया जा सकता है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
Novel Coronavirus (COVID-19) Malaria drug hydroxychloroquine is the most effective coronavirus treatment currently available finds international poll


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3e1UIzo

No comments