Breaking News

40 सेकंड तक हाथ धोने की प्रथा शुरु कराने और गर्भवती महिलाओं की जान बचाने वाले डॉ. इग्नाज को गूगल ने किया याद

हेल्थ डेस्क. हाथों को 20-40 सेकंड तक धोकर बैक्टीरिया और वायरस को शरीर में जाने से रोका जा सकता है। 19वीं शताब्दी में यह बात किसी को नहीं पता नहीं थी। इसे दुनियाभर को बताने वाले डॉ. इग्नाज सेमेल्विस को गूगल ने शुक्रवार को डूडल बनाकर याद किया। गूगल ने इनका एक वीडियो भी बनाया है, जिसमें हाथ धोने के तरीकों के बारे में दिखाया गया है।

19वीं सदी में हंगरी के डॉ. इग्नाज सेमेल्विस ने हाथ धोने के फायदों की खोज की और संक्रमण से लगातार हो रही मौत पर रोक लगाने में सफलता हासिल की।

कैसे शुरू हुई हाथ धोने की प्रथा
19वीं सदी में एक ऐसा समय आया जब अज्ञात बीमारी के कारण मौत के आंकड़े बढ़ रहे थे। उस समय हाथ धोने की प्रथा नहीं थी। डॉ. इग्नाज सेमेल्विस ने देखा कि मां बनने वाली औरतें और नवजात बच्चे अज्ञात बीमारी के कारण तेजी से मर रहे हैं। उस समय डॉ. इग्नाज सेमेल्विस ने प्रस्ताव रखा कि सबसे पहले डॉक्टर हाथ साफ रखना शुरू करेंगे। उन्होंने पाया कि डॉक्टर और अन्य स्टाफ अनजाने में महिलाओं और अन्य रोगियों के बैक्टीरिया से संक्रमित कर रहे थे।

वियना में लागू हुआ प्रस्ताव
उनका प्रस्ताव 1840 में वियना में लागू किया गया। हाथ धोने की व्यवस्था लागू करने के बाद मृत्यु दर में तेजी से गिरावट आई। मैटरनिटीवार्ड जहां गर्भवती महिलाएं एडमिट रहती थीं, वहां होने वाली मौतें घटीं। हालांकि, बहुत सारे डॉक्टरों ने उनकी बात को ज्यादा गंभीरता से नहींलिया इसलिए यह प्रयोग ज्यादा कामयाब साबित नहीं हो सका। डॉक्टर ये मानने को तैयार नहीं थे कि अस्पतालों की गंदगी और हाथों केसंक्रमण से बीमारी फैलती है। लेकिन डॉ. सेमेल्विस की पहचान गर्भवती महिलाओं की जान बचाने वाले के रूप में हो चुकी थी। बाद में उन्हें हाथ को साफ करने के फायदों की खोज करने वाले के रूप में जाना गया।

मैटरनिटी क्लीनिक का चीफ रेजिडेंट बनाया गया
डॉ. इग्नाज वियना में बतौर फिजिशियन एक जनरल अस्पताल में कार्यरत थे। 20 मार्च को ही उन्हें मैटरनिटी क्लीनिक वियना जनरलहॉस्पिटल का चीफ रेजिडेंट बनाया गया। उनकी खोज को बाद में प्रसिद्धि मिली। सेमेल्विस का जन्म हंगरी में हुआ और वियनायूनिवर्सिटी से डॉक्टरेट की उपाधि प्राप्त की। आज जब पूरी दुनिया COVID-19 यानी कोरोना वायरस से ग्रसित हैं तो डॉक्टर सभी को सलाहदे रहे हैं कि हाथ को ठीक से समय समय पर धोते रहें। बचाव की यह पहली प्रक्रिया है। गूगल ने अपने वीडियो में भी 40 सेकेंड तक हाथ धोनेकी बात दिखाई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
google doodle recognizing dr ignaz semmelweis and handwashing ignaz known for hand washing analysis


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/3dib0n4

No comments