Breaking News

फ्रांस ने युवक ने 23 फीट की बालकनी में 41 किमी की मैराथन पूरी की, इसमें 6 घंटे 48 मिनट लगे

पेरिस. कोरोनावायरस महामारी के बीच फ्रांस सरकार ने लोगों को सड़कों पर नहीं निकलने के आदेश दिए हैं। ऐसे में टूलूज स्थित बालमा शहर में रहने वाले 32 साल के एक व्यक्ति ने बालकनी में ही 41 किमी की मैराथन पूरी कर ली। दौड़ने वाले का नाम एलिशा नोशोमोवित्ज है। वह एक रेस्त्रां में काम करते हैं। इस मैराथन को पूरी करने में एलिशा को 6 घंटे 48 मिनट का समय लगा। यह उसके पिछले रिकॉर्ड से दोगुना था।

मीडिया से बातची में नोशोमोवित्ज ने कहा, ‘‘मुझे सिर्फ दौड़ने में आनंद आता है। इसके लिए समय मायने नहीं रखता है। कभी भी दौड़ लेता हूं।’’उन्होंने बताया, ‘‘मेरी रनिंग कोरोनावायरस से लड़ाई में लगे मेडिकल स्टाफ को समर्पित है। ऐसा करके मुझे लगता है मैंने जरा हटकर काम किया।’’ नोशोमोवित्ज अब तक 36 मैराथन दौड़ चुके हैं, हालांकि किसी में भी वह कोई मोमेंटो हासिल नहीं कर सके। उनके लिए छोटी सी बालकनी में मैराथन करना बड़ा चैलेंजिंग था। छोटी जगह होने पर बार-बार मुड़ने आगे-पीछे होने में भी परेशानी हुई। मैराथन के लिए उन्हें बालकनी में 3 हजार चक्कर लगाने पड़े।

गर्लफ्रेंड बढ़ाती हौसला, लोग ने कहा-वे प्रभावित हुए
नोशोमोवित्ज ने कहा, ‘‘मैं लकी हूं कि मेरी गर्लफ्रेंड मेरा हौसला बढ़ाती है। वह मेरा ध्यान रखती है। दौड़ के बाद वह मुझे खाना और कोल्ड ड्रिंक्स देती है। इससे मुझे एनर्जी मिलती है। वह बताते हैं, उनकी बालकनी बार्सिलोना की स्ट्रीट नहीं है, जहां वह 15 मार्च को मैराथन होने वाली थी। हालांकि यह रद्द कर दी गई। नोशोमोवित्ज ने बताया, ‘‘बालकनी मैराथन का अनुभव भी सार्थक रहा। कुछ लोगों ने उनसे कहा कि वह मुझसे प्रभावित हुए हैं।’’

देश में गैर जरूरी पब्लिक प्लेस बंद हैं
फ्रांस के प्रधानमंत्री श्री एदुआर्द फिलिप ने 14 मार्च को घोषणा की थी कि देश के सभी गैर जरूरी पब्लिक प्लेस, रेस्त्रां, कैफे और क्लब बंद किए जाते हैं। पिछले हफ्ते से देश में एक स्थान पर लोगों के जुटने पर भी रोक है। कोरोनावायरस महामारी के कारण 17 मार्च के बाद देश की सीमाओं को भी सील कर दिया गया है।फ्रांस में कोरोनावायरस से अब तक 1100 और24 घंटे में 240 की मौतहो गई है।



Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today
नोशोमोवित्ज अब तक 36 मैराथन दौड़ चुके हैं।


from Dainik Bhaskar https://ift.tt/2UethdB

No comments